छिमेकी

know your neighbour

नेपाल के नए युवराज प्रकाश दहाल

Posted by chimeki on March 18, 2012


प्रकाश दहाल

वर्ष 2011 में वरिष्ठ भारतीय पत्रकार आनंद स्वरूप वर्मा ने नेपाल के माओवादी नेता प्रचण्ड के साक्षात्कारों की एक किताब का संपादन किया था ‘एवरेस्ट पर लाल झंडा।’ हम सबकी तरह शायद आनंद स्वरूप वर्मा भी प्रचण्ड से उम्मीद कर रहे थे कि वह दुनिया की छत ‘एवरेस्ट’ पर फिर से वह लाल झंडा फहराएंगे, जो बहुत पहले क्रिमलिन वाल से गिरा दिया गया था और कुछ दिन पहले चीन की दीवार से। लेकिन अफसोस ऐसा नहीं हुआ। अब सुनने में आ रहा है कि पुष्प कमल दहाल ‘प्रचण्ड’ पुत्र प्रकाश यह कारनामा करने जा रहे हैं। नेपाल में इस बात की खासी चर्चा है।

गौरतलब है कि जब बहुत कोशिशों के बाद भी नेपाल में संविधान नहीं बन पाया और शांति की संभावना क्षीण होने लगी तो प्रचण्ड के पुत्र प्रकाश ने एक दिन तैश में आकर अपने पिता से कहा, ‘हे कामरेड पिता! यदि आप आदेश दें तो मैं एवरेस्ट का आरोहण कर वह लाल झंडा फहरा आऊं, जिसे फहराने के लिए आपने दस वर्षीय महान जनयुद्ध का नेतृत्व किया था।’ पुत्र की बात सुन कामरेड पिता की आखों में अश्रु बहने लगे। उन्होंने शहीद के फोटो वाले रैक पर रखे लाल टीके से कामरेड पुत्र का तिलक किया और उन्हें नेपाल के प्रधानमंत्री कार्यालय भेज दिया।

पूर्व प्रधानमंत्री ने ‘कामरेड’ युवराज को अपनी कुर्सी पर बिठाया और शांत मन से उनकी योजना सुनी। कामरेड युवराज ने उन्हें बताया कि वे और उनके साथी एवरेस्ट का आरोहण कर मार्क्सवाद की प्रासंगिकता को सिद्ध करना चाहते हैं और इस काम में वह सरकार का उदार सहयोग चाहते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि वे उद्योगपतियों से सहयोग मांग सकते थे, लेकिन अभी हाल ही में उनकी सहायता से उनके कामरेड पिता ने बड़ी हवेली बनाई है और वे कमजोर राष्ट्रीय बुर्जुआ शक्ति, जिसे पार्टी के दस्तावेजो में मित्र शक्ति माना गया है, पर अधिक बोझ नहीं डालना चाहते। कामरेड प्रधानमंत्री को युवराज की बात जम गई।

नेपाल में कामरेड प्रधानमंत्री की साख एक ऐसे व्यक्ति की है जो सोच सकता है और समय-समय पर मार्क्सवाद के साथ प्रयोग कर उसे वर्तमान विश्व व्यवस्था के अनुरूप ढाल सकता है। अभी हाल में उनके बयान ‘हम मार्क्सवादी बहुत रूढ़ीवादी होते हैं’, ने उनके विशाल हृदय की विचारशीलता को प्रमाणित भी किया था। कामरेड प्रधानमंत्री को यह बात समझते देर न लगी कि प्रचंड पुत्र मार्क्सवाद पर एक नया प्रयोग करने का मन बना रहे हैं और ऐसे हर काम पर उदार सहयोग करना राष्ट्र धर्म है। उन्होंने तुरंत कामरेड युवराज को अर्थ मंत्रालय भेज दिया।

कामरेड अर्थमंत्री, जो इस स्थिति में कभी नहीं रहते कि वे कामरेड युवराज से कोई सवाल कर सकें, ने तुरंत ही दो करोड़ की रकम इस लक्ष्य के लिए सेंक्शन कर दी और कामरेड युवराज आरोहण की तैयारी में लग गए।

एक समाचार एजेंसी को कामरेड युवराज ने बताया ‘मैं बचपन से ही माउंट एवरेस्ट को फतह करने का सपना देखता आया हूं। हमें आशा है कि हम कम्युनिस्ट झंडा और जनमुक्ति सेना का झंडा चोटी पर फहराएंगे।’ उन्होंने कहा कि वे और उनके साथी बहुत समय से आरोहण का अभ्यास कर रहे हैं। प्रकाश ने 13 वर्ष पूर्व पार्टी की सदस्यता ली थी, लेकिन वे बताते हैं ‘चूंकि मेरे पिता एक भूमिगत पार्टी के अध्यक्ष थे इसलिए राजनीति मेरे खून में है’। प्रकाश आगे बताते हैं कि अपने पिता की ही तरह जनयुद्ध के क्रम में उन्होंने बहुत कुछ बलिदान किया है। वे कक्षा आठ में थे जब उन्हें अपने अध्ययन को विराम देना पड़ा, क्योंकि पुलिस दहाल उपनाम के छात्रों को खोज-खोज कर पूछताछ कर रही थी।

समाचार का दूसरा पहलू इस प्रकार है। नेपाल के लोग इस आरोहण को उस तरह नहीं देख पा रहे हैं जैसा कि कामरेड पिता, कामरेड पुत्र, कामरेड प्रधानमंत्री और कामरेड वित्तमंत्री उन्हें दिखाना चाहते हैं। वे पूछ रहे हैं कि क्या अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री कामरेड डॉ. बाबुराम भट्टराई को नहीं पता कि नेपाल की आर्थिक हालत क्या है? क्या उन्होंने अपने ही अर्थमंत्री द्वारा पेश किए वर्ष 2011-12 के घाटे वाले बजट को नहीं पढ़ा ? इससे आगे लोग इस बात को स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं कि कामरेड पुत्र के एवरेस्ट विजय करने से नेपाल में शांति आ जाएगी।

एमाले पार्टी के छात्र संगठन, जिसे माओवादी पार्टी प्रतिक्रियावादी संगठन मानती है, ने एक प्रेस वार्ता में कहा है कि यदि सरकार 24 घंटे के अंदर अपने इस बेतुके फैसले को वापस नहीं लेती तो उनका संगठन आंदोलन करेगा। छात्र संगठन के महासचिव किशोर विक्रम मल्ल ने आरोप लगाया कि माओवादी पार्टी के शीर्ष नेता देशहित के लिए नहीं, बल्कि पार्टी के युवराज पर राष्ट्रीय धन खर्च कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह प्रकाश को दूसरा पारस बनाने की ‘माओवादी’ योजना का हिस्सा है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: